Computer Basic Knowledge in Hindi

हैलो दोस्तों, इस पोस्ट मे हम Computer Basic Knowledge के बारे मे बात करने वाले है| computer basic facts जो हम आप के साथ साझा करने जा रहे उन Facts को आप सभी जरूर पढ़े| जिससे Computer Basic Knowledge को ओर बेहतर कर सके|

यदि आप कम्प्युटर पर अपनी अच्छी पकड़ बनाना चाहते है तो आपको Computer basic knowledge होनी ही चाहिए| इन सभी facts को पढ़ने के लिए अंत तक जरूर देखे।

Computer Basic Knowledge facts

कम्प्युटर (Computer) : कम्प्युटर एक इलेक्ट्रोनिक मशीन है, जिसमे डाटा का इनपुट, संग्रहण एवं गणनकार्य किये जाते है तथा परिणाम आउटपुट के रूप में प्राप्त किया जाता है|

कोबोल (Cobol) : यह एक उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा है| इसका प्रयोग वाणिज्यिककार्यो के लिए होता है |

बेसिक (BASIC – Beginners All purpose Symbolic Instruction Code ) : यह एक उच्च प्रोग्रामिंग भाषा है इसका विकास प्रो. कुर्टर्ज ने किया था |

डाटा (Data) : यह वह इनपुट है जो कम्प्युटर में गणना व प्रोसेसिंग के लिये प्रयुक्तहोते है उसे डाटा कहते है |

डाटा बेस (Data Base) : फ़ाइल में संगठित डाटा समूह को डाटा बेस कहते है|

बैच प्रोसेसिंग (Batch Processing) : इस विधि में कई प्रोग्राम को एकत्र करके, एक साथ प्रोसेस करवाया जाता है|

बबल सार्ट (Bubble Sort) : इस विधि से लगातार युग्मों के मानो का आपस में बदलाव किया जाता है |

बफर (Buffer) : यह मेमोरी का वह भाग है जहाँ पर अस्थायी रूप से डाटा का संग्रह किया जाता है|

बग (Bug) : प्रोग्राम में उत्पन्न त्रुटि को कहते है |

काई (CAI) : कम्प्युटर की सहायता से निर्देश प्राप्त करना|

कैल (CAL) : कम्प्युटर की सहायता से सीखना|

Basic knowledge of computer in hindi

करेक्टर (Character) : कम्प्युटर में इनपुट/आउटपुट के लिये प्रयोग होने वाला सबसे छोटा तत्व जो की अंक, अक्षर या विशेष चिन्ह हो सकता है |

करेक्टर सेट (Character set) : कम्प्युटर में उपलब्ध अंको व विशेष चिन्हों के समूह को कहते है|

चिप (Chip) : सिलिकान का एक छोटा-सा टुकड़ा, जिस पर integrated circuit बने होते है | इसका उपयोग हम लोग डाटा स्टोर करने के लिए किया जाता हैं |

कमांड (Command) : यह कम्प्युटर में Sent निर्देश का एक भाग है| यह कम्प्युटर से कार्यको execute करवाता है|

कंपाइलर (Compiler) : यह एक प्रोग्राम है, जो उच्च स्तरीय भाषा में लिखित प्रोग्राम को मशीनी भाषा में अनुवाद करता है |

कंट्रोल यूनिट (CU-Control Unit) : यह CPU का एक भाग है जो निर्देशों के निर्धारण, अनुवाद तथा एक्जीक्यूशन को नियंत्रित करता है |

कर्सर (Cursor) : मॉनीटर की स्क्रीन पर टिमटिमाती हुई एक छोटी-सी रेखा प्रदर्शित होती है। यह रेखा वह स्थान दिखलाती है जहां पर टाइप किया हुआ अक्षर स्क्रीन पर प्रदर्शित होगा।

डिबगिंग (Debugging) : किसी प्रोग्राम या computer में त्रुटियों को ज्ञात करना तथा उनका निवारण करने का प्रोसेस है |जिसे डिबगिंग कहते है |

डायरेक्ट एक्सेज़ (Direct Access) : किसी भी File में उपस्थित विशेष record को सीधे read की प्रक्रिय होती है |

एडिटर (Editor) : एक प्रोग्राम जो उपयोगकर्ता के प्रोग्राम को edit करने में सहायता देता है| जो की एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है जो टेक्स्ट में अक्षरों, शब्दों, वाक्यों और पैराग्राफ को जोड़ने, हटाने और पुनः व्यवस्थित करने की अनुमति देता है|

फ़ाइल (File) : किसी रिकार्ड या प्रोग्राम का संगठित समूह होता है| एक ही फ़ोल्डर में एक ही नाम की दो फ़ाइल नहीं हो सकती है |

Tags :- Basic knowledge of computer in hindi, Important Facts Computer system in hindi 2020, Computer Basic Knowledge, Important Facts Computer Basic Knowledge in Hindi

Important Facts Computer Basic Knowledge in Hindi

फर्मवेयर (Firmware) : ROM में संग्रहीत सॉफ्टवेयर होता है| एक साधारण ट्रैफिक लाइट में फर्मवेयर होता है|

फिल्प-फ्लाप (Flip-Flop) : द्विस्थितिक परिपथ जो दो संभव स्थितियों (0 या 1) में से एक को ग्रहण करता है| फ्लिप-फ्लॉप और लैच को विभिन्न लॉजिक गेट्स की सहायता से बनाया जाता हैं।

फ़्लापी डिस्क (Floppy Disk) : एक लचीली प्लास्टिक से निर्मित वृत्तीयमैग्नेटिक डिस्क जिसके ऊपर वैज्ञानिक क्षेत्र में होता है |

फ़्लोचार्ट (Flow Chart) : फ्लो चार्ट किसी प्रोग्राम को डिजाईन करने का एक ग्राफ़िकल रिप्रजेंटेशन होता है| इसकी मदद से हम किसी प्रोग्राम को सॉल्व करने का डायग्राम तैयार करते हैं|

फोरट्रान (Fortron) : यह IBM के द्वारा विकसित एक उच्चस्तरीय भाषा है| जिसका उपयोग वैज्ञानिक क्षेत्र में होता है|

ग्राफिक्स (Graphics) : कंप्यूटर ग्राफिक्स एक ऐसी कला जिससे हम कंप्यूटर में इमेज, रेखा और चार्ट आदि को हम कंप्यूटर मैं प्रोग्रामिक के द्वारा बना सकते हैं।

हार्डकापी (Hard Copy) : कम्प्युटर द्वारा प्राप्त इनपुट डाटा को सीपीयू द्वारा प्रोसेस के बाद प्रिंटर द्वारा प्रिंट पेज को हार्ड कॉपी कहते है |

हार्डवेयर (Hardware) : कम्प्युटर के भौतिक भाग होता है|जिसमे सी.पी.यू., मदरबोर्ड, इनपुट डिवाइस, आउटपुट डिवाइस तथा दूसरी इकाइयाँ शामिल होते है |

आई.सी. (IC- Integrated Circuit) : एकीकृत परिपथ अर्थात ट्रांजिस्टरोंका समूहन, इसे चिप कहते हैं|

इनपुट (Input) : कम्प्युटर को निर्देश व डाटा देने को कम्प्युटर की भाषा में इनपुट कहते हैं|

Important Facts Computer system in hindi 2020

इनपुट डिवाइस (Input Device) : इनपुट डिवाइस वे होती है जिनके द्वारा कम्प्युटर की मेमोरी में डाटा और निर्देशों को भेजा जाता है |

इंटरफ़ेस (Interface) : यह हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर को एक सिस्टम से दूसरे सिस्टम में जोड़ता है|

लाइन प्रिन्टर (Line Printer) : वह प्रिंटर जो पूरी लाइन को एक साथ प्रिंट करे| उन प्रिंटर को लाइन प्रिंटर कहते हैं |

लो-लेविल लैग्वेज (Low-Level Language) : मशीन लेवल लैग्वेज को लो -लेवल या बाइनरी लेवल की भाषा भी कहा जाता है| जो इनपुट और आउटपुट के रूप में केवल बाइनरी नंबर की जानकारी का उपयोग करती है |

मशीन लैग्वेज या कोड (Machine Language or Code) : मशीन लैग्वेज निर्देशों के समूह को कहते है जिसे कम्प्युटर समझ सकता है| यह कम्प्युटर की भाषा होती है | किसी भी उच्च स्तरीय भाषा में दिये गये निर्देशों को इसमें अनुवादित होना होता है|

आउटपुट (Output) : कंप्यूटर के इनपुट डिवाइस द्वारा दिए गये निर्देशों को प्रोसेसिंग होने के बाद जिस डिवाइस में उसका परिणाम हार्डकापी के रूप में प्राप्त होता है, उसे आउटपुट कहते है |

यदि आप Daily Current Affair,Today Current Affairs Online Test,General Knowledge,Hindi Online Test,ग्रामीण परिवेश,Gramin Parivesh Online Test,UP GK Online Test and Static GK आदि को भी पढ़ना चाहते हैं

Leave a Comment